अमिताभ बच्चन को रिप्लेस करने की वहज से फिल्म को हुआ भरी नुकसान

0
The film suffered huge losses due to replacing Amitabh Bachchan

The film suffered huge losses due to replacing Amitabh Bachchan

बच्चन फैमिली इन दिनों काफी ज्यादा चर्चाओं में है और इसकी वजह हैं बच्चन फैमिली के बीच में हो रही तकरार जी हाँ परिवार के ही बीच में तकरार हो रही है दावा नहीं किया जा रहा है कि अमिताभ बच्चन के घर में सब कुछ सही नहीं है वेल आज हम एक ऐसी स्टोरी के बारे में बात करेंगे जिसमें अमिताभ बच्चन का नाम अब भला कोई ऐसा कभी कर सकता है कि सदी के महानायक अमिताभ बच्चन को किसी फ़िल्म से रिप्लेस कर दिया जाए.

अरबाज़ खान ने पत्नी शूरा खान की बेटी और पहले पति को लेकर कही ये बड़ी बात

या अमिताभ बच्चन की फ़िल्म से रिप्लेस हो जाये और किसी और को उनका फूल थमा दिया जाए एक ऐसी फ़िल्म थी जिसमें ऐसा हुआ था और इस फ़िल्म ने न केवल अमिताभ बच्चन को लेकर के जो सुर्खियां है वो बनाई थी बल्कि भारत सरकार का नाम की आया था क्योंकि एक ऐसी फ़िल्म के बारे में बताने जा रही है जिसमें भारत सरकार को करोड़ों रुपये का नुकसान हुआ एक ऐसी फ़िल्म जो कि बॉलीवुड की सबसे बड़ी डिज़ास्टर फ़िल्मों में से एक होती है.

श्वेता बच्चन की ग्रैंड बर्थडे पार्टी में ऐश्वर्या राय-अभिषेक बच्चन शामिल नहीं हुए

इस फिल्म को आखिर डिजास्टर फ़िल्म आखिर क्यों कहा जाता है वो भी समझते हैं बॉलीवुड की सबसे बड़ी डिज़ास्टर फ़िल्म जिसमें ढेर सारे बॉलीवुड के एक्टर वो भी बड़े एक्टर शामिल होते हैं जैसे कि ओम शांति ओम में हुआ था किस तरीके से बॉलीवुड के जाने पहचाने एक्टर बड़े सितारों ने एंट्री ली थी ठीक उसी तरीके से इस फ़िल्म में भी बड़े बड़े सितारों ने इंट्री ली थी लेकिन ये फ़िल्म उसके बावजूद भी नहीं चली.

The film suffered huge losses due to replacing Amitabh Bachchan
The film suffered huge losses due to replacing Amitabh Bachchan

कहा जाता है न कि ये फ़िल्म में एक्टिंग के साथ साथ स्टोरी भी दमदार होनी चाहिए वेल इसकी स्टोरी जितनी ज्यादा दमदार थी पैसे भी उतने ज्यादा दमदार थे लेकिन उसके बावजूद भी बॉक्स ऑफिस पर इस फ़िल्म ने कुछ भी कमाई नहीं की थी इस फ़िल्म को बनाने के लिए 25 से 30 करोड़ रूपये की जो रकम है वो ऐडा कि गयी थी लेकिन इस फ़िल्म की टोटल कमाई ही 6 करोड़ रूपये हुई यानी की आधी भी नहीं.

भाभी ऐश्वर्या को अमिताभ की संपत्ति से बाहर कर श्वेता बच्चन लेंगी इतने हज़ार करोड़

याकी कि फ़िल्म में जो नुकसान है भारत सरकार को भी काफी बढ़ा हुआ था इसकी वजह रहीं भारत सरकार द्वारा इस्तेमाल किए गए कुछ ऐसी चीजें जो कि फ़िल्म के लिए जरूरी थी जिसमे रेलवे सबसे बड़ा जो मुद्दा था वो सामने आया क्योंकि रेलवे की करोड़ों की संपत्ति इस फ़िल्म में लगी थी रेलवे ने इस फ़िल्म के लिए अपनी ट्रेन ही किराये पर दे दी थी ट्रेन तो किराये पर दी ही साथ ही कुछ और भी औजार दिए कुछ और सामान रेलवे मंत्रालय की ओर से दिए गए थे.

और जब फ़िल्म रिलीज हुई तो ये पूरी तरीके से पिट गयी क्या हुआ आइये जानते हैं द बर्निंग ट्रेनन ये फ़िल्म बॉलीवुड की सबसे बड़ी डिज़ास्टर फ़िल्में से थी फ़िल्म 1980 के दशक में रिलीज हुई फ़िल्म में विनोद खन्ना, धर्मेन्द्र, परवीन, बॉबी, जितेंद्र, नीतू कपूर, हेमा मालिनी ने एक्टिंग थी हिंदी सिनेमा के लिए ये पहली बार था जब किसी फ़िल्म में ये सारे सितारे एक साथ आए थे इतने बड़े सितारे और एक ही फ़िल्म में लोगों को इस फ़िल्म से काफी उम्मीदें थीं.

नानी जया बच्चन से इतना डरती है नातिन नव्या नंदा

लेकिन अफसोस की बात ये रही कि फ़िल्म ने बिल्कुल भी कमाल नहीं दिखाया इतना ही नहीं ये फ़िल्म भारत सरकार को भी बड़ा नुकसान दे गई भारत की ऐसी एकलौती फ़िल्म जिसके डूबने से भारत सरकार को बड़ा नुकसान झेलना पड़ा था भारत सरकार को भी करोड़ों रुपये का चूना इस फ़िल्म की वजह से लगा था बता दे द बर्निंग ट्रेन हॉलीवुड फ़िल्म द टाउरी इनफ्रोन पर आधारित थी फ़िल्म में चलती ट्रेन के जलने की दुर्घटना को दिखाया गया था.

जिसका क्लाइमेक्स काफी मंत्रमुग्ध कर देने वाला था लेकिन फिर भी ये फ़िल्म बॉक्स ऑफिस में डूब गयी आईएमडीबी की रिपोर्ट की मानी तो फ़िल्म में कुछ स्पेशल इफेक्ट्स के लिए हॉलीवुड एक्सपर्ट्स को बुलाया गया था वहीं इफेक्ट्स के अलावा फ़िल्म की शूटिंग के लिए भारतीय रेलवे की प्रॉपर्टी का भी इस्तेमाल किया गया था कहा जाता है कि इस फ़िल्म को बनाने के लिए निर्माता रवि चोपड़ा ने भारतीय रेलवे से ट्रेन किराये पर ली थी.

क्या श्वेता बच्चन और निखिल नन्दा हो गये हैं अलग?

वही फ़िल्म की शूटिंग के दौरान ट्रेल और रेलवे की अन्य प्रॉपर्टी को करोड़ों का नुकसान हुआ जब भारतीय रेलवे ने निर्माता की इस भरपाई तो करने के लिए कहा तो वो इसको चुकाने से इंकार कर बैठें क्योंकि वे पहले से ही फ़िल्म फ्लॉप होने की वजह से कर्ज में डूब गए थे रिपोर्ट की मानें तो भारतीय रेलवे ने निर्माता पर केस भी था लेकिन बाद में ये तमाम खबरें खारिज कर दी गई थी.

आपको बता दें की द बर्निंग ट्रेन 5 साल की देरी से बनी थी रिपोर्ट की मानें तो फ़िल्म की घोषणा 7 अगस्त 1976 को ही कर दी गई थी इस दौरान स्टारकास्ट में शम्मी कपूर, जितेंद्र, अमिताभ बच्चन, विनोद खन्ना, जीनत अमान और नीतू सिंह, विद्या सिंह जैसे बड़े सितारे थे ये फ़िल्म अक्टूबर में फ्लोर पर आई और इससे काफी ज्यादा उम्मीदें लोगों ने लगा ली लेकिन ऐसा हो नहीं पाया आगे बताया गया कि ये फ़िल्म 5 साल की देरी से बनी थी.

बच्चन परिवार ने ऐश्वर्या राय के साथ किया भेदभाव

और जब फाइनल स्टेज पर पहुंची तो अमिताभ बच्चन की जगह जितेन्द्र को इसमें साइन कर लिया गया वहीं अमिताभ के जाते ही धर्मेंद्र और हेमा मालिनी की इस फ़िल्म में हो गयी द बर्निंग ट्रेन की कमाई और बजट की बात करें तो ये फ़िल्म 25 से 30 करोड़ रूपये में बनी थी लेकिन बॉक्स ऑफिस पर इसका टोटल कलेक्शन केवल 6 करोड़ रूपये ही हुआ.

जिसकी वजह से बॉलीवुड की ये अबतक की सबसे ज्यादा डिज़ास्टर फ़िल्मों में से एक कही जाती है हालांकि इस फ़िल्म से अमिताभ बच्चन को क्यों निकाल दिया गया इसके बारे में अभी कोई भी बात साफ नहीं है फ़िलहाल आप इस खबर पर क्या कहेंगे हमें अपनी राय कमेंट करके जरूर बताएं बाकी और भी ऐसी ही अपडेट्स पाने के लिए हमारे टेलीग्राम चैनल और व्हाट्सएप ग्रुप को ज्वॉइन करें.

उस दिन के बाद अक्षय कुमार ने अमिताभ बच्चन को अपने पिता का दर्जा दे दिया

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *